इंटरनेट का स्वामी Owner of The Internet

0
45

हेलो नमस्ते मैं उपेंद्र सिंह सिदार आप सभी लोगों का मेरी www.merijigyasa.in एस ब्लॉग वेबसाइट पर सभी लोगों का स्वागत करता हूं उम्मीद और आशा करता हूं कि आपको यह पोस्ट जरूर पसंद आएगा

आज हम इंटरनेट का स्वामी इसी कांसेप्ट के बारे में बात करने वाले हैं तो चलिए शुरू करते हैं आप शुरू से लेकर लास्ट तक कंटिन्यू पढ़ते रहिए

इंटरनेट का स्वामी Owner of The Internet

इंटरनेट का ना ही कोई अध्यक्ष और ना ही मुख्य कार्यकारी अधिकारी Chief Executive Officer है संगठक नेटवर्क के अध्यक्ष या मुख्य कार्यकारी अधिकारी Chief Executive Officer हो सकते हैं लेकिन इंटरनेट का पूर्ण रूप से कोई संचालक या नियंत्रक नहीं है इंटरनेट का एक मात्रा अधिकारी इंटरनेट सोसायटी है जो एक स्वयंसेवी सदस्यता संगठन है 

जिसका उद्देश्य इंटरनेट प्रौद्योगिकी के माध्यम से वैश्विक संचार के आदान-प्रदान का विकास करना है यह स्वयंसेवकों का चयन करती है जिसे इंटरनेट आर्किटेक्चर बोर्ड कहा जाता है इंटरनेट आर्किटेक्चर बोर्ड इंटरनेट के तकनीकी प्रबंधन तथा दिशा डायरेक्शन के लिए उत्तरदाई होता है कंप्यूटर तथा सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन के मध्य आपसी संवाद के लिए कुछ मानक स्टैंडर्ड है जिनके आधार पर इंटरनेट कार्य करता है

 यह मानक विभिन्न कंपनियों के द्वारा निर्मित कंप्यूटरों के मध्य भी संवाद करने में कोई समस्या उत्पन्न नहीं होने देते हैं इंटरनेट आर्किटेक्चर बोर्ड प्रायः इस तरह के मानक बनाती रहती है तथा पते एड्रेस जैसे संसाधनों का आवंटन एलोकेट करती रहती है जब किसी मानक की आवश्यकता होती है तब यह समस्या पर विचार करती है तथा मानक को ग्रहण करती है और इसकी घोषणा इंटरनेट के माध्यम से करती है इंटरनेट आर्किटेक्चर बोर्ड वैसी सूचना भी रखती है जोकि इंटरनेट से जुड़े कंप्यूटरों की अनोखे ढंग से यूनिक ली पहचान करती है 

उदाहरणार्थ इंटरनेट के प्रत्येक कंप्यूटर में एक अनोखा 32 बिट पता होता है किन्ही दो कंप्यूटरों का एक पता नहीं होता है इंटरनेट आर्किटेक्चर बोर्ड यह सुनिश्चित करता है कि प्रत्येक कंप्यूटर के नामकरण के लिए कुछ निश्चित नियमों का पालन किया जाए इंटरनेट प्रयोक्ता अपने विचार इंटरनेट इंजीनियरिंग टास्क फोर्स की बैठकों मीटिंग के माध्यम से व्यक्त करता है 

इंटरनेट इंजीनियरिंग टास्क फ़ोर्स एक अन्य स्वयंसेवी संगठन है जो इंटरनेट की ऑपरेशनल तथा तकनीकी समस्याओं पर चर्चा करने के लिए लगातार बैठे थे आयोजित करती हैं तथा जब कोई समस्या बहुत अधिक महत्वपूर्ण हो जाती है

 तब इंटरनेट इंजीनियरिंग टास्क फोर्स इस समस्या के लिए एक कार्यकारी समूह का गठन करता है कार्यकारी समूह इंटरनेट आर्किटेक्चर बोरडा के समक्ष यह सिफारिश करता है कि समस्या के समाधान हेतु मानक की घोषणा की जाए या नहीं

निष्कर्ष

निष्कर्ष

दोस्तों अगर आपको मेरा यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों में रिश्तेदारों में फैमिली मेंबर में फेसबुक व्हाट्सएप टि्वटर जैसे सोशल साइट पर शेयर जरूर करें 

दोस्तों हम आप लोगों के लिए मेहनत करके इस तरह का जानकारी कॉन्टेंट प्रोवाइड करते हैं आप का भी फर्ज बनता है की ऐसे नॉलेजेबल जानकारी को दूसरे लोगों तक पहुंचाएं ताकि जो लोग नहीं  जान रहे हैं वह भी जान जाए

 थैंक यू सो मच जय हिंद जय छत्तीसगढ़ फिर मिलेंगे बहुत जल्द हमारे अगले पोस्ट पर मेरा इंतजार कीजिएगा और अपना ख्याल रखिएगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here